सीकर न्यूज़, Sikar News in Hindi, Sikar Local News

SIKAR । तेजपाल नूनिया…। शेखावाटी का वो फौजी, जिसने करोड़ों के टर्न ओवर वाली प्रिया परिवार कंपनी खड़ी की और उसे बुलंदियों तक पहुंंचाया /लोग थैलों में पैसे भरकर आते थे मेंबर बनने

तेजपाल नूनिया : शेखावाटी का वो फौजी जिसने खड़ी की प्रिया परिवार

SIKAR । तेजपाल नूनिया…। शेखावाटी का वो फौजी, जिसने करोड़ों के टर्न ओवर वाली प्रिया परिवार कंपनी खड़ी की और उसे बुलंदियों तक पहुंंचाया, लेकिन प्रिया परिवार जितनी जल्दी बड़ी कंपनी बनी, उसी गति से इसमें धोखाधड़ी के मामले उजागर हुए और रातोंरात कंपनी पर ताले लग गए। बुधवार को प्रिया परिवार के निदेशकों में से एक तेजपाल नूनिया की मौत हो गई। सीकर जिले के नीमकाथाना कोर्ट में पेशी के दौरान हार्ट अटैक से तेजपाल नूनिया की जान चली गई।

 

Priya pariwar : चिड़ावा से शुरू हुई थी शुरुआत

बता दें कि राजस्थान के झुंझुनूं जिले के चिड़ावा उपखंड के गांव नूनिया के तेजपाल नूनिया फौज में थे। वहां से रिटायर होने के बाद चिड़ावा में प्रिया नीटस के नाम से सीमित संसाधनों व एक कंप्यूटर से कंपनी की नींव रखी। इसमें कड़ी से कड़ी जोड़कर मेंमर बनाने का प्लान था। देखते ही देखते कंपनी से लोगों के जुड़ने का सिलसिला शुरू हो गया। प्रिया नीटस से नाम बदलकर प्रिया परिवार हो गया। तब झुंझुनूं के मंडावा मोड़ पर प्रिया परिवार का कार्यालय भी खोला गया। एक वक्त था जब प्रिया परिवार के एजेंट थैलों में भरकर मंडावा मोड़ पहुंचते थे। वहीं, प्रिया परिवार के मेंबर बनने के लिए कतार में लगे नजर आते थे।

अर्श से फर्श पर आई प्रिया परिवार

अर्श से फर्श पर आई प्रिया परिवार

हैड कांस्टेबल ओमप्रकाश ने बताया कि करोड़ों की धोखाधड़ी के मामले में जयपुर जेल में बंद तेजपाल नूनिया को बुधवार को नीमकाथाना कोर्ट में पेशी पर लाया गया था। इसी दौरान नूनिया को हार्ट अटैक आया, जिससे मौत हो गई । तेजपाल नूनिया की मौत के साथ ही एक बार फिर से प्रिया परिवार का नाम लोगों की जुबान पर है। वर्ष 2011 तक प्रिया परिवार की राजस्थान और हरियाणा समेत देश के कई राज्यों में बाइक व कार बांटने के साथ कम्प्यूटर शिक्षा देने वाली कंपनी के रूप में थी, मगर फिर धोखाधड़ी के आरोप लगने शुरू हुए तो कंपनी अर्श से फर्श पर आ

 

sikar news

प्रिया परिवार मुहैया करवाती थी शिक्षा

हैड कांस्टेबल ओमप्रकाश ने बताया कि करोड़ों की धोखाधड़ी के मामले में जयपुर जेल में बंद तेजपाल नूनिया को बुधवार को नीमकाथाना कोर्ट में पेशी पर लाया गया था। इसी दौरान नूनिया को हार्ट अटैक आया, जिससे मौत हो गई । तेजपाल नूनिया की मौत के साथ ही एक बार फिर से प्रिया परिवार का नाम लोगों की जुबान पर है। वर्ष 2011 तक प्रिया परिवार की राजस्थान और हरियाणा समेत देश के कई राज्यों में बाइक व कार बांटने के साथ कम्प्यूटर शिक्षा देने वाली कंपनी के रूप में थी, मगर फिर धोखाधड़ी के आरोप लगने शुरू हुए तो कंपनी अर्श से फर्श पर

जानिए तेजपाल नूनिया का कौनसा ख्वाब रहा अधूरा

हैड कांस्टेबल ओमप्रकाश ने बताया कि करोड़ों की धोखाधड़ी के मामले में जयपुर जेल में बंद तेजपाल नूनिया को बुधवार को नीमकाथाना कोर्ट में पेशी पर लाया गया था। इसी दौरान नूनिया को हार्ट अटैक आया, जिससे मौत हो गई ।sikar news तेजपाल नूनिया की मौत के साथ ही एक बार फिर से प्रिया परिवार का नाम लोगों की जुबान पर है। वर्ष 2011 तक प्रिया परिवार की राजस्थान और हरियाणा समेत देश के कई राज्यों में बाइक व कार बांटने के साथ कम्प्यूटर शिक्षा देने वाली कंपनी के रूप में थी, मगर फिर धोखाधड़ी के आरोप लगने शुरू हुए तो कंपनी अर्श से फर्श पर आ गई।

 

 

6800 रुपए में सदस्य बनाती थी प्रिया परिवार

हैड कांस्टेबल ओमप्रकाश ने बताया कि करोड़ों की धोखाधड़ी के मामले में जयपुर जेल में बंद तेजपाल नूनिया को बुधवार को नीमकाथाना कोर्ट में पेशी पर लाया गया था। इसी दौरान नूनिया को हार्ट अटैक आया, जिससे मौत हो गई । तेजपाल नूनिया की मौत के साथ ही एक बार फिर से प्रिया परिवार का नाम लोगों की जुबान पर है। वर्ष 2011 तक प्रिया परिवार की राजस्थान और हरियाणा समेत देश के कई राज्यों में बाइक व कार बांटने के साथ कम्प्यूटर शिक्षा देने वाली कंपनी के रूप में थी, मगर फिर धोखाधड़ी के आरोप लगने शुरू हुए तो कंपनी अर्श से फर्श पर आ गई।