सीकर न्यूज़, Sikar News in Hindi, Sikar Local News

Today News//Nirbhaya Case: दोषी मुकेश ने डेथ वारंट को दिल्ली हाईकोर्ट में दी चुनौती, आज होगी सुनवाई

Read Time:3 Minute, 2 Second

दिसंबर 2012 में दिल्ली में हुए बहुचर्चित निर्भया गैंगरेप (Nirbhaya Gang Rape) मामले में चार दोषियों में से एक मुकेश ने निचली अदालत द्वारा जारी डेथ वारंट को निरस्त कराने के लिए मंगलवार को दिल्ली हाइकोर्ट (Delhi High Court) में याचिका दायर की. दोषी मुकेश की याचिका जस्टिस मनमोहन और जस्टिस संगीता ढींगरा सहगल की बेंच के समक्ष बुधवार को सुनवाई के लिए लिस्टेड है.

वकील वृंदा ग्रोवर के जरिए दायर याचिका में 7 जनवरी को निचली अदालत द्वारा जारी किए गए फांसी के वारंट को खारिज करने का आग्रह किया गया है. याचिका में मुकेश ने कहा है कि उसने मंगलवार को राष्ट्रपति और दिल्ली के उपराज्यपाल के समक्ष दया याचिकाएं भी दायर की हैं.पटियाला हाउस कोर्ट ने 7 जनवरी को जारी किया था डेथ वारंट

दिल्‍ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने मामले के चारों दोषियों के खिलाफ 7 जनवरी को डेथ वारंट जारी करते हुए उन्हें आगामी 22 जनवरी को सुबह सात बजे तिहाड़ जेल में फांसी पर लटकाने का आदेश दे चुकी है. क्या है मामला?

ये मामला दिसंबर 2012 का है. जब चलती बस में 23 साल की पैरामेडिकल स्टूडेंट के साथ छह लोगों ने गैंगरेप किया था. इस दौरान सभी ने मिलकर उसके साथ क्रूरतम व्यवहार किया था और उसे घायल अवस्था में मरने के लिए सड़क पर फेंक दिया था. घटना के कुछ दिनों बाद ‘निर्भया’ की इलाज के दौरान मौत हो गई थी.

इस मामले में निचली अदालत ने आरोपियों को दोषी ठहराते हुए उन्‍हें फांसी की सजा सुनाई थी. इसके बाद यह मामला हाईकोर्ट और फिर सुप्रीम कोर्ट पहुंचा. हाईकोर्ट ने 13 मार्च 2014 को चारों दोषियों की अपील भी खारिज कर दी थी. शीर्ष अदालत ने वर्ष 2017 में दोषियों की याचिका खारिज कर दी थी. हाल ही में पटियाला हाउस कोर्ट ने चारों दोषियों का डेथ वॉरंट जारी कर दिया. चारों दोषियों को 22 जनवरी की सुबह सात बजे फांसी पर लटकाया जाएगा.