20 Year Old E Mitra Operator Was Raising Old Age Pension By Becoming – 20 साल का ई मित्र संचालक 60 साल का बन कर उठा रहा था वृद्धा की पेंशन


खाते को लिंक कराने के बहाने किया गड़बड़झाला

बैंक में बीसी संचालक का काम भी करता है
पाणुन्द (उदयपुर). लसाडिय़ा उपखण्ड़ क्षेत्र के टेकण ग्राम पंचायत में बीसी संचालक द्वारा एक वृद्धा की करीब 20 माह से पेंशन हड़पने का मामला सामने आया है। टेकण निवासी हगामी बाई ने बताया कि उसकी वृद्धावस्था पेंशन १ जून २०११ को पारित होकर २६ दिसम्बर २०१९ तक डाक के जरिये लगातार प्राप्त हुई। बाद में सरकार ने पेंशन राशि सीधे बैंक खाते में ट्रांसफर करने का नियम लागू किया। इस पर वृद्धा अपनी पेंशन सीधे बैंक में डलवाने के लिए टेकण निवासी ई-मित्र संचालक व बैंक बीसी भैरूलाल पुत्र दामा मीणा के पास गई और भारतीय स्टेट बैंक का खाता व दस्तावेज देकर पीपीओ से जोडऩे को कहा। वृद्धा का आरोप है कि इस पर बीसी संचालक ने उसका खाता नहीं जोड़कर स्वयं का खाता बैंक में जोड़ लिया। जिससे उसकी पेंशन बीसी संचालक के खाते में जा रही है। वृद्धा का कहना है कि भैरूलाल करीब २० माह की वृद्धावस्था पेंशन जब्त कर बैठा है। इस पर वृद्धा ने कलक्टर कार्यालय, उपखण्ड़ मुख्यालय लसाडिय़ा, ग्राम पंचायत टेकण, थाना लसाडिया में शिकायत दी।

उम्र में भी किया गड़बड़झाला
बैंक बीसी संचालक भैरूलाल मीणा जिस पर वृद्धा हगामी बाई की पेंशन हड़पने का आारोप है उसका एक और चौकाने वाला कारनामा सामने आया है। आरोप है कि उसकी उम्र २८ वर्ष है और उसने फर्जी दस्तावेजों में अपनी उम्र ६० वर्ष दिखाकर वृद्धाावस्था पेंशन उठा रहा है। मामले को लेकर जिला कलक्टर को पत्र भेजा गया है। आरोप है कि वह लम्बे समय से सरकार के साथ भी धोखाधड़ी कर रहा है। बीसी संचालक भैरूलाल मीणा का कहना है कि वृद्ध के और हमारे आपसी समझौता हो गया है। मेरे पास जो पेमेंंट आया है वह मैं वापस जमा करा दूंगा।











Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email