5 Thousand Plastic Surgeries In Jodhpur In 7 Years – 7 साल में जोधपुर में 5 हजार प्लास्टिक सर्जरी


विश्व प्लास्टिक सर्जरी डे आज

जोधपुर. किसी की सौंदयर्ता में चार चांद लगाने की बात हो या फिर जन्मजात विकृत शरीर के अंग या दुर्घटनाग्रस्त अंगों को दुरुस्त करना हो, आजकल हरेक ऐसे कार्यों के लिए प्लास्टिक सर्जरी को याद किया जाता है। चिकित्सा क्षेत्र में विकसित जोधपुर के डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज के प्लास्टिक सर्जरी विंग में बीते 7 साल में 5 हजार सफल सर्जरी हो चुकी है। वर्ष 2011 से प्लास्टिक सर्जरी की जागरूकता बढ़ाने के लिए इंडियन एसोसिएशन ऑफ प्लास्टिक सर्जरी ने 15 जुलाई को नेशनल प्लास्टिक सर्जरी डे के रूप में मनाना शुरू किया। इसी को धीरे-धीरे विश्व प्लास्टिक सर्जरी डे के रूप में मनाया जाने लगा।
महात्मा गांधी अस्पताल के प्लास्टिक सर्जन डॉ. रजनीश गालवा ने बताया कि जोधपुर में पिछले 7 सालों से प्लास्टिक सर्जरी ने अपनी अलग से पहचान बनाई है। पहले इसके लिए मरीज़ों को शहर के बाहर जाना पड़ता था, अब हर प्रकार की प्लास्टिक सर्जरी जोधपुर शहर में उपलब्ध होती है। महात्मा गांधी अस्पताल में वर्ष 2014 से नियमित रूप से प्लास्टिक सर्जरी की सुविधाएं हैं, इससे जोधपुर नहीं बल्कि संभाग भर के मरीज इलाज के लिए पहुंचते है। डॉ. गालवा ने कहा कि सर्वाधिक प्लास्टिक सर्जरी जोधपुर में दुर्घटनाग्रस्त व्यक्तियों की हुई है। इसके बाद जन्मजात कटे हुए होंठ, तालू, जलने के उपरांत विकृतियां, हाथों-पैरों की अंगुलियों में विकृति, दुर्घटना में मांस का अलग होना, कैंसर सर्जरी के बाद चमड़ी सामान्य करना, जबड़े के फ्रेक्चर को लेकर भी कार्य किया गया है। प्रिंसिपल डॉ. एसएस राठौड़ व अधीक्षक डॉ. राजश्री बेहरा ने इस अचीवमेंट की सराहना की।

यूथ में बढ़ा क्रेज
आधुनिक जमाने में यूथ अपनी स्कीन व सुंदरता को लेकर ज्यादा अलर्ट है। ऐसे में कई लोग अपनी नाक तीखी करवाने व होंठ अच्छे दिखाने के लिए प्लास्टिक सर्जरी करवाने पहुंचते है। हालांकि जोधपुर में इतना क्रेज नहीं है, लेकिन दूसरे महानगर दिल्ली-मुंबई व दक्षिण भारत के इलाकों में प्लास्टिक सर्जरी का उपयोग सुंदरता में चार चांद लगाए जाने के लिए किया जा रहा है।





Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email