Anurag Basu | Director Anurag Basu Talks On Obscenity Obscene Content On OTT Media | भोपाल में बोले इस पर कंट्रोल की जरूरत; सेंसर लगाने से ज्यादा जरूरी सेल्फ सेंसर की है, राजधानी में 11 फिल्मी प्रोजेक्ट ला रहे


भोपाल3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
कार्यक्रम के बाद प्रेंस कांफ्रेंस के दौरान उन्होंने यह बात कही। मंत्री उषा ठाकुर के साथ अनुराग बसु। - Dainik Bhaskar

कार्यक्रम के बाद प्रेंस कांफ्रेंस के दौरान उन्होंने यह बात कही। मंत्री उषा ठाकुर के साथ अनुराग बसु।

भोपाल में फिल्म निर्माता, निर्देशक अनुराग बसु ने फिल्म और ओटीपी चैनल पर अश्लीलता बढ़ने को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि इस पर कंट्रोल जरूरी है। इसमें सेंसर किए जाने से ज्यादा जरूरी सेल्फ सेंसर की है। आपके अंदर वह चीज होना चाहिए। सबसे पहली बात। आप चाहे जितना भी सेंसर कर लें, लोग कहीं न कहीं से उसका तरीका निकाल लेते हैं। आपके दिमाग में यह होना जरूरी है। जब तक सेल्फ सेंसर की भावना नहीं आएगी, इसे रोकना आसान नहीं होगा।

हम फिल्म और OTP के 11 प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। यह सभी मध्यप्रदेश में और खासतौर से भोपाल में फिल्माए जाएंगे। जनवरी में एक फिल्म के साथ मैं खुद भोपाल में शूटिंग करूंगा। यह बात अनुराग बसु ने 15 सितंबर 2021 को मिंटो हॉल में एक दिवसीय शिक्षण और इंटरैक्टिव सत्र द एक्सपर्ट शॉट्स वर्कशॉप का आयोजन के दौरान कही।

MP बॉलीवुड का पंसदीदा हब बना

बसु ने कहा कि मध्यप्रदेश अब बॉलीवुड के निर्माता, निर्देशक और फिल्मी हस्तियों के लिए पंसदीदा हब बन गया है। मुंबई अधिकांश लोग यहां पर ही शूटिंग करना पसंद कर रहे हैं। इसका मुख्य कारण यहां के लोग हैं। मध्यप्रदेश और खासतौर पर भोपाल महसूस करने वाला शहर है। हम चाहते हैं कि आने वाले दिनों में हम सिर्फ छोटी से टीम लेकर आएं और फिर फिल्म बनाने की सभी सुविधाएं यहीं मिल जाएं। इससे जहां यहां के लोगों को चांस के लिए मुंबई नहीं जाना होगा, वहीं नए रोजगार के अवसर निकलेंगे। कार्यक्रम में सिनेमा के प्रसिद्ध डायरेक्टर, एक्टर और फिल्म विशेषज्ञ प्रदेश के फिल्म संबंधित छात्र-छात्राओं ने फिल्म मेकिंग की बारीकियां सीखीं।

शूटिंग की एक ही जगह पर सभी अनुमति मिलेंगी

एक दिवसीय सत्र को प्रसिद्ध फिल्म निर्माता, निर्देशक अनुराग बसु , राज शांडिल्य, कास्टिंग डायरेक्टर मुकेश छाबरा, संचालक (एमपीएसडी) आलोक चटर्जी और शिवांकित सिंह परिहार द्वारा संबोधित किया गया। संस्कृति और अध्यात्म मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि हम फिल्म इंडस्ट्री के बढ़ावा देने के लिए सभी तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराने की कोशिश करेंगे।

इसलिए प्रदेश में कहीं फिल्म शूटिंग के लिए एक ही जगह से सभी अनुमति देने का निर्णय लिया है। प्रमुख सचिव पर्यटन और संस्कृति शिव शेखर शुक्ला ने कहा कि जल्द ही फिल्म सिटी के प्रोजेक्ट पर काम किया जाएगा। मिंटो हाल में आयोजित इस कार्यक्रम में चयनित छात्र ऑफलाइन और अन्य लोग ऑनलाइन के माध्यम से जुड़े।

खबरें और भी हैं…



Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email