Deep Contacts Of The Gang Who Cheated 32 Lakhs From The Army – फौजी से 32 लाख की ठगी करने वाले गिरोह के गहरे सम्पर्क


निवेश के नाम पर लाखों की ठगी की वारदात को अंजाम देने वाली डेली डायमंड कंपनी ने सीकर में सेवानिवृत फौजी को 32 लाख का चूना लगा दिया। इस गिरोह के गहरे सम्पर्क है। पुलिस गिरोह की कडिय़ां जोडऩे में जुटी है।

By: Devendra

Published: 18 Jul 2021, 10:19 PM IST

सीकर. निवेश के नाम पर लाखों की ठगी की वारदात को अंजाम देने वाली डेली डायमंड कंपनी ने सीकर में सेवानिवृत फौजी को 32 लाख का चूना लगा दिया। इस गिरोह के गहरे सम्पर्क है। पुलिस गिरोह की कडिय़ां जोडऩे में जुटी है। गिरोह ने फौजी को बाद में इंकम टैक्स के नाम पर डरा कर रखा गया। फिर पैसे देने से साफ मना कर दिया गया। कंपनी के डायरेक्टर बृजमोहन सैनी और फौजी को झांसे में लेने वाली नीतू चौधरी को उद्योग नगर थाना पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों आरोपियों को बाद में न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें दो दिन के रिमांड पर पुलिस को सौंपा गया है। थानाधिकारी पवन चौबे ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी चौमूं के बदनपुरा गांव निवासी बृज मोहन सैनी और बढ़ाढर निवासी नीतू चौधरी पत्नी बिजेन्द्र कुमार भास्कर है। नवलगढ़ के बिरोल गांव निवासी दीपपचंद जाट ने मामला दर्ज करवाया था कि वह वर्ष 2017 में भारतीय सेना से सेवानिवृत हो गया था। इसके बाद दूसरी नौकरी के लिए सीकर में कोचिंग करता था। वर्ष 2018 में उसकी मुलाकात नीतू चौधरी से हुई।

सोना और डायमंड में निवेश पर डबल फायदे का झांसा

नीतू चौधरी ने दीपचंद को झांसा दिया कि वह डेली डायमंड डायरेक्टेड सैलिंग कंपनी से जुड़ी हुई है। इस कंपनी में सोना और डायमंड का काम होता है। इसके बाद नीतू चौधरी ने कंपनी के जयपुर स्थित कार्यालय में दीपचंद की बृजमोहन, उसके भाई राजमोहन व अन्य से बैठक भी करवाई। इस दौरान निवेश करने पर गारंटी के तौर पर चैक देने की बात भी कहीं। इसके बाद सीकर स्थित फ्लेट में भी बैठक कर दीपचंद को लुभाने का प्रयास किया।

12 बार चैक से और नकद लिया पैसा

बृज मोहन सैनी और नीतू चौधरी ने दीपचंद को कई बार जयपुर और सीकर में साथ बैठक कर झांसे में ले लिया। सबसे पहले सात मार्च, 2018 को एक लाख 23 हजार, 6 अप्रेल 2018 को दो चैकों से 9 लाख 51 हजार, उसके बाद 17 अपे्रल को 60 हजार, 4 जून को एक लाख 95 हजार, 12 जुलाई को 94 हजार, 15 जुलाई को 27 हजार, 19 जुलाई को एक लाख 65 हजार, 20 जुलाई को नौ लाख 98 हजार रुपए नेफ्ट करवाए। इसके बाद 7 अक्टूबर को 6 लाख 28 हजार रुपए जमा करवाए। करीब 32 लाख 41 हजार रुपए जमा करवाने के दौरान उससे बैंक पासबुक, आधार कार्ड आदि दस्तावेज भी लिए गए। रुपए वापस मांगने पर बहाने बनाने लगे। इस दौरान इनकम टैक्स के अधिकारियों का भी डर दिखाया। बाद में थाने में झूंठा मुकदमा दर्ज करवा कर जेल भिजवाने की धमकी दी।

गिरोह के सरगना के खिलाफ दर्ज है ठगी के 17 मामले थानाधिकारी पवन चौबे ने बताया कि गिरोह के सरगना बृजमोहन के खिलाफ सीकर के कोतवाली, उद्योग नगर, चौमूं, मुरलीपुरा, विद्याधर नगर, जयपुर कोतवाली, नागौर कोतवाली, टोडाभीम, दौसा के मानुपर सहित विभिन्न थाना क्षेत्रों में लाखों की ठगी के 17 मामले दर्ज है। यह करीब तीन सौ करोड़ की ठगी का मास्टरमाइंड है। गिरोह ने सीकर में भी लाखों की ठगी की है। पुलिस अब बृजमोहन के साथ नीतू चौधरी के सम्पर्कों का पता लगा रही है। साथ ही गिरोह से जुड़े अन्य लोगों की तलाश कर रही है।





Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email