From The Point Of View Of Astrology And Planets, There Will Be A Chang – ज्योतिष और ग्रहों की दृष्टि से आगामी चार माह तक ग्रहों में होगा फेरबदल


मंगल 2 बार, बुध 6 बार, गुरु 1 बार, शुक्र और सूर्य 4-4 बार करेंगे राशि परिवर्तन, देश की अर्थव्यवस्था के लिए शुभ

14 सितंबर से 21 नवंबर का समय बीमारियों की दृष्टि से संवेदनशील

जोधपुर. ज्योतिष और ग्रहों की दृष्टि से आगामी चार माह में होने वाले ग्रहों के फेरबदल देश की अर्थव्यवस्था के लिए शुभ साबित होंगे। ज्योतिषियों के आंकलन के अनुसार देश की अर्थव्यवस्था में वृद्धि होगी। प्राकृतिक आपदाओं के संकेत के साथ राजनीतिक के क्षेत्र में उथल पुथल रहेगी। आगामी चार माह में मंगल 2 बार, बुध 6 बार, गुरु 1 बार, शुक्र 4 बार, सूर्य 4 बार अपनी राशि परिवर्तन करेंगे। मंगल 6 सितंबर, 22 अक्तूबर को, बुध 9 अगस्त, 26 अगस्त, 22 सितंबर, 2 अक्तूबर, 2 नवंबर, 21 नवंबर को, गुरु 14 सितंबर को, शुक्र11 अगस्त, 6 सितंबर, 2 अक्तूबर, 30 अक्तूबर को, सूर्य 17 अगस्त, 17 सितंबर, 17 अक्तूबर, 16 नवंबर को अपनी राशि परिवर्तन करेंगे। गुरु 20 जून को वक्री हुए थे और 18 अक्टूबर को मार्गी होंगे। इसके साथ ही शनि 23 मई को वक्री हुए थे और 11 अक्टूबर को मार्गी होंगे। ज्योतिषिय आकलन के अनुसार ग्रहों के राशि परिवर्तन से प्राकृतिक आपदाएं और बीमारियों में बढ़ोतरी होगी लेकिन देश की अर्थव्यवस्था के लिए शुभ रहेगा। रोजगार के क्षेत्रों में वृद्धि होगी। ग्रहों के परिवर्तन से 14 सितंबर से 21 नवंबर तक का समय अंतराल बीमारियों की दृष्टि से अत्यंत ही संवेदनशील होगा।ं

राहु केतु के कारण राजनीतिक उथल पुथल

ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि शनि मकर राशि में, राहु वृषभ राशि में और केतु वृश्चिक राशि में गोचर करते हुए सभी राशियों को प्रभावित करेंगे। राहु केतु के कारण पूरे विश्व में राजनीति चरम पर रहेगी और राजनीतिक उथल-पुथल चलती रहेगी। ज्योतिषिय आकलन के अनुसार ग्रहों के चाल बदलने से व्यक्ति को कई बार शुभ तो कई बार अशुभ परिणामों की प्राप्ति होती है। राशि परिवर्तन जातकों की लाइफ में प्रमोशन , नौकरी और अचानक धन प्राप्ति का योग लेकर भी आता है।











Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email