IIM Udaipur Slips One Rank, Ranks 18 Across The Country – आईआईएम उदयपुर की एक रैंक फिसली, देशभर में 18 वां स्थान


– सुविवि के फार्मेसी विभाग का प्रदेश में तीसरा, देशभर में 67 वां स्थान
– नेशनल इंस्टीट्यूशन रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) रैंक

 

भुवनेश पण्ड्या

उदयपुर. भारत सरकार के मिनिस्ट्री ऑफ एज्यूकेशन की ओर से गुरुवार को एनआईआरएफ (नेशनल इंस्टीट्यूशन रैंकिंग फ्रेमवर्क) की रैंक जारी की गई है। इसमें (मैंनेजमेंट पार्ट) में भारतीय प्रबन्धन संस्थान उदयपुर 18 वें स्थान पर रहा हैं, हालांकि टॉप 100 में पहले हम 17 वें स्थान पर थे, जिसमें हमारी एक रैंक फिसली है। संस्थान को 60 अंक प्राप्त हुए हैं, जबकि पहले स्थान पर आईआईएम अहमदाबाद रहा, जिसमें उसे 83.69 अंक मिले हैं। वहीं मोहनलाल सुखाडि़या विवि के फार्मेसी विभाग को प्रदेश में तीसरा और देश भर में ६७वां स्थान प्राप्त हुआ है।

——
यहां मिली राजस्थान को रैंक – अंडर 100

– आेवरऑल: बीट्स पिलानी २९, बनस्थली विद्यापीठ ६६, एमएनआईटी जयपुर ७२- विश्वविद्यालयी- बीट्स १७,बनस्थली विद्यापीठ ३५
– इंजीनियरिंग: बीट्स- २६, एमएनआईटी ३७, आईआईटी जोधपुर ४३, बनस्थली विद्यापीठ ६७, मनिपाल जयपुर ८४

– मैनेजमेंट: आईआईएमयू १८, आईआईएचएमआर यूनि. जयपुर ७३, जयपुरिया इंस्टी.ऑफ मैने. ७४- फार्मेसी- बीट्स ३, जयपुर नेशनल यूनि.७२
– कॉलेज: एसएस जैन सुबोध पीजी जयपुर ८१

– मेडिकल: एम्स जोधपुर २८, एसएमएस जयपुर ३८
– लॉ: नेशनल लॉ यूनि.जोधपुर-८- रिसर्च,

डेंटल व आर्किटेक्चर में प्रदेश से टॉप रैंक में एक भी संस्थान नहीं है।

इनका कहना–
जल्द होंगे क्लस्टर टू में

आईआईएम निदेशक जनत शाह का कहना है कि हम जल्द ही क्लस्टर टू में शामिल होंगे, पूरे प्रयास हैं, हम रैंक को केवल फीडबैक के तौर पर ही ले रहे हैं ताकि कमियां सुधार सके, फिलहाल हम एनालिसिस करेंगे, हम विजन २०३० के तहत आगे बढ़ रहे है। क्यूएस रैंक में हमारी बेहतर स्थिति है। हम रिसर्च की गुणवत्ता व संख्या बढ़ाएंगे।

टॉप रैंक की दिशा में बढ़ेंंगे
मोहनलाल सुखाडि़या विवि के कुलपति प्रो अमेरिकासिंह का कहना है कि विवि के फार्मेसी विभाग ने एनआईआरएफ रैंकिंग में प्रदेश में तीसरा स्थान एवं ऑल इंडिया रैंकिंग में 67 रेंक प्राप्त की है। फार्मेसी विभाग ने टॉप 100 विश्वविद्यालयों में 67 वां स्थान प्राप्त किया है। कोरोनाकाल में भी प्रयास पूरे किए गए। अब हम और बेहतर कर टॉप रैंक लाने की दिशा में बढ़ रहे हैं।





Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email