Monsoon Rain : Monsoon Rain In Udaipur – चतुर्थी पर गणपति अभिषेक : उदयपुर में मूसलाधार बारिश से टीडी डेम छलका, वेग पर रही सिसारमा


लगातार दूसरे दिन जमकर बरसे मेघ, उदयसागर में तीन, वल्लभनगर-गोगुन्दा में दो-दो, कोटड़ा में एक इंच बरसात

उदयपुर. मेवाड़ में लगातार दूसरे दिन भी तेज बरसात का दौर जारी रहा। गणेश चतुर्थी पर सुबह से शाम तक बरसात का क्रम इस तरह बना रहा, मानो बादलों ने गणपति का अभिषेक किया हो। शुक्रवार शाम तक उदयसागर में तीन इंच, वल्लभनगर-गोगुन्दा में दो-दो, कोटड़ा में एक इंच बरसात दर्ज की गई। शहर के समीप स्थित टीडी डेम छलक गया, वहीं पिछोला को भरने वाली सिसारमा नदी वेग पर रही।

दो दिन से तेज हुए बरसात के क्रम में शुक्रवार को सुबह 10 बजे बादलों की तेज गर्जना के साथ बरसात हुई। जिले में कुछ जगहों पर आकाशीय बिजली गिरने की सूचना मिली, वहीं दिनभर रह-रहकर बरसात का क्रम बना रहा। इससे शहर की सडक़ों पर पानी का जमाव बना रहा। जिले के विभिन्न क्षेत्रों से अच्छी बरसात की सूचना मिली है। पिछोल में तीन इंच पानी बढ़ा, वहीं फतहसागर में भी एक इंच पानी आया है।

कहां कितनी बरसात
उदयसागर – 70 मिमी

वल्लभनगर 58 मिमी
गोगुन्दा 45 मिमी

कोटड़ा 25 मिमी
बागोलिया 20 मिमी

झाड़ोल 18 मिमी
पिछोला 13.5 मिमी

उदयपुर शहर 11 मिमी
ओगणा 12 मिमी

नाई 11 मिमी
अलसीगढ़ 9 मिमी

मदार 2 मिमी

इस प्रकार रहा जल स्तर
जल स्रोत – गुरुवार – शुक्रवार

फतहसागर – 5.4 – 5.5 फीट
पिछोला – 8.2 – 8.5 फीट

उदयसागर – 16.6 – 17 फीट
देवास प्रथम – 17.6 – 17.10 फीट

मादड़ी – 14.10 – 15.05 फीट
आकोदड़ा – 3.60 – 4.10 मीटर

अब तक बरसात

पिछोला 195 मिमी
देवास 488 मिमी

मदार 280 मिमी
नाई 279 मिमी

उदयसागर 412 मिमी
वल्लभनगर 515 मिमी

बागोलिया 401 मिमी
कुल औसत 365.71 मिमी

रुक गया रास्ता

कैलाशपुरी से एकलिंग मार्ग पर शुक्रवार को बड़ा पेड़ गिरा, जिससे रास्ता रुक गया। दोपहर 12 बजे पेड़ गिरा, जो शाम 6 बजे तक पड़ा रहा। यहां से एक रोडवेज बस गुजरी ही थी कि पेड़ गिरा। लोगों को आवाजाही में परेशानी हुई। अशोक कुमार मोड ने प्रभारी मंत्री व परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास से भी मांग की है कि खतरे का कारण बने पेड़ों को रास्ते से हटाया जाए, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया।

छत पर गिरी आकाशीय बिजली

वार्ड 64 के शांति नगर कॉलोनी के एक आवासीय मकान की छत पर आकाशीय बिजली गिरने से छज्जा पूर्णतया क्षतिग्रस्त हो गया एवं छत गिर कर नीचे खड़ी कार पर जाकर गिरी जिससे कार को नुकसान पहुंचा। गनीमत यह रही कि नीचे कोई खड़ा नहीं था। आकाशीय बिजली गिरने से पूरे क्षेत्र की बिजली भी कई घंटों तक बंद हो रही।











Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email