Phed Jaipur – जयपुर शहर और जिले की पेयजल व्यवस्था की समीक्षा—-छोटी सी समस्या को नसूर मत बनाओ,एसी कमरों से बाहर निकले फील्ड इंजिनियर


जयपुर शहर और जिले की पेयजल समीक्षा बैठक में जलदाय विभाग के एसीएस सुधांश पंत के दिखे तीखे तेवर
अधीक्षण अभियंता प्रोजेक्ट,ग्रामीण,दक्षिण और उत्तर सर्किल में तैनात दो एक्सीएन को फटकार
कहा—जो इंजिनियर आम जन की समस्याओं को लेकर लापरवाह उनको भेजा जाएगा जयपुर से बाहर
दिए निर्देश—इस बार बीसलपुर बांध में पानी कम—फील्ड में पहुंच कर पेयजल व्यवस्था का करो मैनेजमेंट

जयपुर शहर की पेयजल व्यवस्था और आॅनलाइन पेयजल कनेक्शन को लेकर थपथपाई अतिरिक्त मुख्य अभियंता मनीष बेनीवाल की पीठ

जयपुर।
जलदाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुधांश पंत ने शनिवार को जल भवन में जयपुर शहर और जिले की पेयजल व्यवस्था की समीक्षा की। समीक्षा में पूरे दो घंटे एसीएस सुधांश पंत के तीखे तेवरों से जलदाय इंजिनियर रूबरू होते रहे। पेयजल समस्याओं के त्वरित गति से समाधान नहीं होने,शहर के चार पेयजल प्रोजेक्ट पूरे नहीं होने,फील्ड विजिट नहीं करने और आम जन के फोन नहीं उठाने को लेकर पंत ने अधीक्षण अभियंता प्रोजेक्ट,ग्रामीण,दक्षिण व जयपुर शहर के उत्तर सर्किल में तैनात दो एक्सीएन को भरी मीटिंग में फटकार लगाई। उन्होंने दो टूक शब्दों में कह दिया कि आज जन की समस्याओं की सुनवाई कर समाधान सरकार की प्राथमिकता है। ऐसे में इंजिनियर अपनी कार्यशैली सुधार लें नहीं तो उन्हें दूसरे जिले में भेजा जाएगा।
शनिवार को जल भवन में सुबह 11.30 बजे एससीएस सुधांश पंत की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक शुरू हुई। जिसमें उन्होंने बारी बारी से जयपुर शहर के दोनो सर्किल,प्रोजेक्ट,ग्रामीण क्षेत्रों में आ रही पेयजल समस्याओं के समाधान नहीं होने के कारण पूछे। सभी इंजिनियर एसीएस के सवालों की बौछार को देख लंबी चुप्पी साध कर बैठ गए। एसीएस ने कहा कि जयपुर शहर और जिले में पेयजल की समस्याएं इतनी गंभीर नहीं है। लेकिन इंजिनियर समस्या का समाधान तब तक नहीं कर रहे है तब तक लोग सडकों पर नहीं उतरे और समस्या नासूर नहीं बने। इंजिनियरों की ऐसी कार्यशैली से सरकार की छवि खराब हो रही है। इंजिनियरों को अपने एयरकंडीशन कमरों को छोड फील्ड में जाना ही होगा।
बैठक में एसीएस के इस तरह नजर आए तल्ख तेवर

अतिरिक्त मुख्य अभियंता बेनीवाल के कार्य को बेहतर बताया

बैठक में अतिरिक्त मुख्य अभियंता मनीष बेनीवाल ने एसीएस पंत को बताया कि बीसलपुर प्रोजेक्ट के तहत सफलतापूर्वक जगतपुरा प्रोजेक्ट पूरा कर लिया गया है। जहां पिछले विर्ष 2200 टैंकरों से शहर में पेयजल व्यवस्था की गई थी वहीं इस बार महज 1200 टैंकरों से बेहतर पेयजल व्यवस्था की गई है। बेनीवाल ने बताया कि पूरे प्रदेश में जयपुर शहर में ही आॅनलाइन पेयजल कनेक्शन शुरू कर दी गई है। पंत ने जयपुर शहर की पेयजल व्यवस्था और नवाचारों पर अतिरिक्त मुख्य अभियंता मनीष बेनीवाल के काम को बेहतर बताया।

अधीक्षण अभियंता प्रोजेक्ट—सुभांशु दीक्षित—प्रोजेक्ट समय पर पूरे क्यो नहीं हुए,देरी का खामियाज आम जनता क्यों भुगते
एसई ग्रामीण—अखिरी बार फील्ड विजिट कब किया,जिले पेयजल समस्याएं ही पता नहीं
एसई दक्षिण—किसी का फोन नहीं उठाना,लंच के नाम पर तीन घंटे गायब,
एक्सीएन उत्तर—रविन्द्र गर्ग—सिर्फ कागजों में ही पेयजल समस्याओं का समाधान
एक्सीएन उत्तर—अशोक यादव—आम जन की समस्याओं से कोई





Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email