The Prize Crook Of Robbery Was Absconding For Ten Years – दस साल से फरार चल रहा था लूट का ईनामी बदमाश


सूरत गुजरात में काट रहा था फरारी

सांगानेर सदर थाना पुलिस ने राह चलते व्यक्तियों से लूट करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए सरगना को पकड़ा हैं। आरोपी के खिलाफ दो हजार रुपए का इनाम रखा हुआ था। आरोपी के खिलाफ करीब आधा दर्जन स्थाई वारंट पैडिंग चल रहे हैं। आरोपी अपनी पहचान छिपाकर सूरत, गुजरात में रह रहा था।
डीसीपी (दक्षिण) हरेन्द्र कुमार ने बताया कि दस साल से फरार चल रहे लूट के आरोपी स्थाई वारंटी भीम सिंह को पकड़ने के लिए टीम का गठन किया गया। टीम ने पता किया तो सामने आया कि भीम सिंह अपने गांव तिगरिया बालघाट करौली में पिछले दस साल से घर नहीं आ रहा है और ना ही वह किसी परिजनों से सम्पर्क रख रहा हैं। आरोप भीम सिंह के होम पुलिस थाना बालघाट से जानकारी प्राप्त की गई तो पाया कि आरोपी बालघाट, हिण्डौन, नई मंडी का भी स्थाई वारटी है और अपने मूल निवासी पर नहीं रहता हैं। करौली पुलिस उसकी तलाश कर रही हैं।

इस तरह पकड़ा गया आरोपी
आरोपी के भतीजे के मोबाइल नम्बर के संबंध में तकनीकी सहायता प्राप्त की गई तो भतीजे का सूरत, गुजरात में जाना पाया गया। इस पर पुलिस ने सूरत और गुजरात में दबिश दी तो आरोपी अपना नाम पता बदलकर किसी अन्य नाम से सूरत में टाईल्स का काम कर रहा हैं। जिस पर पुलिस ने आरोपी भीम सिंह के कार्यस्थलों की तलाश तथा मोबाइल नम्बर की तलाश की तो आरोपी का एक मोबाइल नम्बर प्राप्त हुआ जिसके संबंध में पड़ताल की तो वह किसी अन्य व्यक्ति का होना पाया गया। पुलिस ने जब राम सिंह नाम के व्यक्ति से बात की तो वह व्यक्ति ही तिगरिया बालघाट करौली निवासी भीम सिंह (40) पुत्र मोहर सिंह होना पाया गया। इस पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के खिलाफ जिला करौली के पुलिस थाना बालघाट, नई मंडी, सुरौठ, हिण्डौन सिटी और जिला जयपुर के बस्सी के करीब दर्जनों प्रकरण में वांछित होना पाया गया। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही हैं।















Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email