Then The Forest Became The Sail Of Madan Sagar – फिर जंगल बनी मदन सागर की पाल


भीण्डर के मदन सागर पाल का चार वर्ष पहले बदला था रूप

भीण्डर. (उदयपुर). भीण्डर नगर पालिका द्वारा देखरेख के अभाव में मदन सागर तालाब की पाल फिर से जंगल में बदलती जा रही है। यहां चार वर्ष पहले पालिका प्रशासन ने लाखों रुपए खर्च करके वीरान मदन सागर पाल को आबाद कर दिया था, जिसके बाद सैकड़ों की संख्या में लोग पहुंचने लगे थे और सेल्फी प्वाइंट बन गया था। लेकिन अब पालिका प्रशासन ने इसकी अनदेखी कर दी, जिससे पाल फिर से बदहाल हो गई है।
2016 के ओवरफ्लो ने बदला था पाल का नजारा : भीण्डर के चारों दिशाओं में तालाब हैं, इसमें से एक हैं मदन सागर तालाब। यह आबादी क्षेत्र से करीब आधा किमी दूरी पर स्थित है। यहां पर वर्ष 2017 से पहले आमजन जाना पसंद नहीं करते थे, उसका प्रमुख कारण पूरे मार्ग पर कंटीली झाडिय़ां और रास्ता नहीं होना था। वर्ष 2016 में अच्छी बारिश होने के बाद मदन सागर तालाब ओवरफ्लो हुआ तो उस समय तत्कालीन विधायक रणधीर सिंह भीण्डर पानी से होकर तालाब की पाल पर पहुंचे। उस समय तालाब की पाल की बदहाली देखकर इसके विकास की रूपरेखा तैयार की। जिसको नगर पालिका के जनता सेना बोर्ड के माध्यम से मूर्त रूप देते हुए विकास करवाया।
विकास के बाद पाल को भूली पालिका : भीण्डर नगर पालिका प्रशासन ने मदन सागर पाल का विकास करने के बाद इसकी देखरेख का कभी जिम्मा ही नहीं उठाया। जिसके चलते यहां बनाई गई छतरियां, बैठने के लिए कुर्सियां क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं। वर्तमान में मदन सागर पाल पर कटीली झाडिय़ों सहित जंगल जैसा माहौल हो गया है। जिससे अब आमजन की आवाजाही कम होकर समाजकंटकों की आवाजाही बढ़ गई है।
& भीण्डर के मदन सागर पाल का 4 वर्ष पहले विकास हुआ था, लेकिन पिछले तीन वर्षों से इस ओर ध्यान नहीं दिया गया है। अब मदन सागर की पाल की साफ-सफाई की जाएगी।
निर्मला भोजावत,
अध्यक्ष नगर पालिका भीण्डर
& मदन सागर पाल पर गंदगी व बदहाली को हटाने के लिए कल ही सफाई टीम भेजकर व्यवस्थित किया जाएगा। मदन सागर पाल को आबाद करने के लिए उचित कदम भी उठाए जाएंगे।
विजेश मंत्री,
ईओ नगर पालिका, भीण्डर






Show More











Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email