Two Corona Positive Found In Sikar Again – सीकर में छह दिन बाद फिर लौटा कोरोना, अब 17 एक्टिव मरीज


राजस्थान के सीकर जिले में छह दिन बाद कोरोना संक्रमण के फिर दो नए केस मिले। जिसके बाद जिले में कोरोना के सक्रीय मरीजों की संख्या बढ़कर फिर 17 हो गई।

By: Sachin

Published: 22 Jul 2021, 08:31 PM IST

सीकर. राजस्थान के सीकर जिले में छह दिन बाद कोरोना संक्रमण के फिर दो नए केस मिले। जिसके बाद जिले में कोरोना के सक्रीय मरीजों की संख्या बढ़कर फिर 17 हो गई। कुल मरीजों का ग्राफ भी 30 हजार 967 पहुंच गया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अजय चौधरी ने बताया कि गुरुवार को कूदन व दांतारामगढ़ ब्लॉक से एक- एक नए कोरोना मरीज मिले हैं। जिनका उपचार शुरू कर दिया गया है।

अब तक 30 हजार 967 पॉजिटिव
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार जिले में कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या अब 30 हजार 967 हो गई है। जिनमें से 30 हजार 615 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। जबकि 335 मरीजों की मौत हो चुकी है। मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारी डा. चौधरी ने बताया कि
कोरोना की दूसरी लहर में 1 मार्च से लेकर अब तक 1 लाख 26 हजार 933 सैम्पल लिए गए। इनमें से 21 हजार 506 कोरोना संक्रमित रोगी मिले हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना की जांच के लिए गुरूवार को जिलेभर में 1184 सैम्पल लिए गए हैं।

1593 को लगा टीका
इधर, जिले में कोविड-19 टीकाकरण अभियान के तहत गुरुवार को जिले के चिकित्सा विभाग की ओर से 1593 लोगों को कोरोना वायरस से बचाव का टीका लगाया गया। जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉ निर्मल सिंह ने बताया कि 941 लोगों को पहली टीके की पहली डोज लगाई गई। वहीं 652 लोगों को दूसरी डोज लगाई गई। 18 से 44 आयु वर्ग के 835 को पहली और 84 युवाओं को दूसरी डोज लगाई गई। वही 45+ आयु वर्ग के 53 को पहली और 541 लोगों दिव्तीय डोज लगाई गई। 60+ आयु वर्ग के 53 को पहली और 27 को सेकिंड डोज लगाई गई। आरसीएचओ डॉ सिंह ने बताया कि कूदन क्षेत्र में 554, पिपराली ब्लाक में 214, दांता ब्लाक में 143, श्रीमाधोपुर ब्लॉक में 682 लोगों को टीका लगाया गया।

3158 गर्भवती महिलाओं और 8762 बच्चों की जांच
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से गुरुवार को मातृ शिशु स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस पर स्वास्थ्य कर्मियों ने गर्भवती महिलाओं व बच्चों के स्वास्थ्य की जांच कर जीवनरक्षक टीके लगाए और मातृ स्वास्थ्य, शिशु स्वास्थ्य एवं पोषण संबंधी सेवाएं दी। जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉ निर्मल सिंह ने बताया कि गुरूवार को जिले के 704 चिकित्सा संस्थान व 30 आंगनबाडी केंद्रोें पर 3158 गर्भवती महिलाओं और 8762 बच्चों के स्वास्थ्य का परीक्षण किया और जीवनरक्षक टीके लगाए गए। चिकित्सा संस्थान व आंगनबाडी केंद्रों पर गर्भवती महिलाओं की एएनसी जांच के साथ हिमोग्लोबिन, वजन, मूत्र, मधूमेह, हाईट, ब्लड प्रेशर तथा पेट की जांच की गई। चिन्हित हाई रिस्क प्रेगनेंसी वाली महिलाओं को समूचित पौष्टिक आहार का सेवन करने की सलाह दी गई। वहीं पांच वर्ष तक की आयु के बच्चों को जीवनरक्षक टीके लगाए गए।









Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email