Udaipur – जलझूलनी एकादशी कल सांकेतिक होगा आयोजन


इस बार भी सांकेतिक होगा आयोजन

उदयपुर, जलझूलनी एकादशी शुक्रवार को मनाई जाएगी। इस अवसर पर शहर के विभिन्न समाजों के मंदिरों से ठाकुरजी की रामरेवाडि़यां निकाली जाती है। रामरेवाडिय़ां बैंडबाजों के साथ गणगौर घाट पहुंचकर ठाकुरजी को पिछोला के नएजल से स्नान करवाया जाता है। लेकिन इस बार कोरोना के चलते अधिकतर समाज इस बार वैवाण नहीं निकालेंगे। कोरोना गाइड लाइन के चलते इस बार भी ठाकुरजी की रामरेवाडि़यां नही निकलेगी। इस दिन समाजों के मंदिरों में सांकेतिक आयोजन ही होंगे।

पंडित जगदीश दिवाकर ने बताया कि जलझूलनी एकादशी को वामन जयंती, परिवर्तिनी एकादशी या डोल ग्यारस के नामों से भी जाना जाता है।
एकादशी तिथि प्रारंभ

16 सितंबर गुरुवार सुबह 9.36 से
17 सितंबर शुक्रवार 8.08 तक रहेगी। इसके बाद द्वादशी तिथि

पूर्बिया कलाल समाज नहीं निकालेगा राम रेवाड़ी
पूर्बिया कलाल समाज उदयपुर की ओर से जलझूलनी एकादशी पर इस बार रामरेवाड़ी की शोभायात्रा नहीं निकाली जाएगी। नरेश पूर्बिया ने बताया कि हाथीपोल स्थित समाज के राधा-कृष्ण मंदिर में भगवान को स्नान करवाकर पूजा-अर्चना की जाएगी। शाम पांच बजे राधा-कृष्ण मंदिर परिसर में ठाकुर जी की परिक्रमा करवाई जाएगी।





Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email