Udaipur Crime News – रात को करवटें बदलते रहे, सुबह पूछा- ‘परिजनों से मुलाकात कब होगी’


सलूम्बर विधायक का ठिकाना जेल की आइसोलेशन बैरक, जेल कार्मिकों ने विधायक के बारे में मुख्यालय से मांगा मार्गदर्शन, दूसरी बार खारिज हुई विधायक मीणा की जमानत याचिका

By: Pankaj

Published: 14 Jul 2021, 06:09 PM IST

उदयपुर. फर्जी अंककातिका के जरिये पत्नी को चुनाव लड़ाकर फंसने के बाद सलूम्बर विधायक अमृतलाल मीणा ने सोमवार को जेल भेजे जाने के दौरान किसी से ज्यादा बातचीत नहीं की। रात को भी चुपचाप सो गए। एक दरी-कंबल के साथ सोए विधायक मीणा रातभर करवटें बदलते रहे। सुबह उठकर जेल कार्मिकों से पूछा कि ‘परिजनों से मुलाकात कब होगी?’ इधर, विधायक की जमानत याचिका मंगलवार को दूसरी बार खारिज हो गई। ऐसे में विधायक को फिलहाल जेल में ही दिन काटने होंगे।

जेल की आइसोलेशन बैरक, यह वर्तमान में सलूम्बर विधायक का नया ‘ठिकाना’ है। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अन्य कैदियों से अलग आइसोलेशन बैरक में विधायक मीणा को रखा गया है। मंगलवार को सुबह और शाम के खाने में उन्हें रोटी के साथ दाल और एक हरी सब्जी मिली। उन्होंने सुबह अखबार मांगा। बाकी दिनभर आराम ही करते रहे। उन्होंने परिजनों से मुलाकात के बारे में पूछा तो जेल कार्मिकों ने बताया कि कोरोना के चलते बंदियों से बाहरी लोगों की मुलाकात फिलहाल बंद है। सप्ताह में एक बार वीडियो कॉन्फ्रेंस से बात कराई जाएगी।

सुरक्षा के मद्देनजर रखा अलग
सलूम्बर जेल के कार्मिकों ने उदयपुर केंद्रीय कारागृह के अधिकारियों से मार्गदर्शन मांगा। पूछा कि विधायक होने के नाते उनके लिए क्या व्यवस्था रहेगी। इस पर बताया गया कि उनकी व्यवस्थाएं भी ऐसे आम लोगों जैसी ही होगी, जो न्यायिक अभिरक्षा में आने पर होती है। हालांकि विधायक होने से सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उन्हें अन्य कैदियों, आरोपियों से अलग रखा गया है।
एक थाली, दो कटोरी, एक मग्गा

जेल में विधायक मीणा को अन्य आरोपियों की तरह ही रखा गया है। उन्हें भी एक थाली, दो कटोरी और एक मग्गा दिया गया है। सोने के लिए एक दरी और ओढऩे को एक कंबल मिली है। उन्हें भी खाना वही दिया जा रहा है, जो जेल में कैदियों के लिए सामूहिक रूप से तैयार होता है।













Source link

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email